भ्रष्टाचार पर निबंध | Essay on Corruption in Hindi

भ्रष्टाचार पर निबंध

आज हम आपको भ्रष्टाचार पर निबंध के बारे में पूरी जानकारी देंगे जिससे आपको भ्रष्टाचार के बारे सभी प्रकार की जानकारियां मिल जाएगी। अब आपका अधिक समय ना लेते हुए भ्रष्टाचार पर निबंध को शुरू करते हैं।

भ्रष्टाचार पर निबंध (Essay on Corruption in Hindi)

भ्रष्टाचार पर निबंध

प्रस्तावना: भ्रष्टाचार शब्द संस्कृत के भ्रष्ट शब्द के साथ आचार् शब्द के योग से निष्पन्न हुआ है। भ्रष्ट का अर्थ है अपने स्थान से गिरा हुआ अथवा विचलित , और आचार्य का अर्थ है आचरण व्यवहार। इस प्रकार किसी व्यक्ति द्वारा अपनी गरिमा से गिरकर अपने कर्तव्यों के विपरीत किया गया आचरण भ्रष्टाचार है।भ्रष्टाचार पर निबंध | Essay on Corruption in Hindi को विस्तार पूर्वक वर्णन करेंगे।

Read More:

भ्रष्टाचार के प्रकार

वर्तमान में भ्रष्टाचार इतना व्यापक है कि उसके विविध रूप देखने में आते हैं जिनमें से कुछ मुख्य प्रकार हैं-

1. रिश्र्वत (सुविधा-शुल्क) किसी कार्य को करने के लिए किसी सक्षम व्यक्ति द्वारा लिया गया उपहार शुभ सुविधा अथवा नगद धनराशि के रिश्वत कहा जाता है इसी को साधारण भाषा में घुस और सभ्य भाषा में सुविधा शुल्क भी कहा जाता है अपने कार्य को समय से और बिना किसी परेशानी के कराने के लिए अथवा नियमों के विपरीत कार्य करने के लिए आज लोग संहर्ष रिश्वत देते हैं।

2. भाई-भतीजावाद किसी सक्षम व्यक्ति द्वारा केवल अपने सगे संबंधियों को कोई सुविधा लाभ अथवा पद प्रदान करना ही भाई भतीजावाद है आज नौकरियों तथा सरकारी सुविधाओं अथवा योजनाओं के समय लोग अपने बेटा बेटी भाई भतीजावाद सगे संबंधियों को लाभ पहुंचाते हैं।

3. कमीशन: किसी विशेष उत्पाद अथवा सेवा के सौदों में किसी सक्षम व्यक्ति द्वारा सौदे के बदले में विक्रेता अथवा सुविधा- प्रदाता से कुल सौदे के मूल्य का एक निश्चित प्रतिशत प्राप्त करना कमीशन है आज सरकारी अर्द्ध सरकारी और प्राइवेट क्षेत्र के अधिकांश सौदो अथवा ठेकों में कमीशन बाजी का बहुत दौर चल रहा है।

4. यौन शोषण :यह भ्रष्टाचार का अवस्था नवीन रूप है इसमें लोग महिलाओं उनके मजबूरी का उठाकर लाभ उनका यौन शोषण करते हैं उनका इस्तेमाल कर लेते हैं महिलाओं के जिंदगी बर्बाद कर देते हैं।

भ्रष्टाचार के कारण

महंगी शिक्षा:शिक्षा के व्यवसायीकरण ने उसे अत्यधिक महंगा कर दिया है।आज जब एक युवा शिक्षा पर लाखों रुपए खर्च करके किसी पद पर पहुंचता है तो उसका सबसे पहला लक्ष्य होता है जितना अपने शिक्षा में खर्च किया है उसे किसी भी हालत में हासिल किया जाएं। यही सोच उसे भ्रष्टाचार के रास्ते पर ले जाती है।

लचर न्याय-व्यवस्था: लचर न्याय-व्यवस्था भी भ्रष्टाचार का एक मुख्य कारण है प्रभावशाली लोग अपने धन और भुजबल के सहारे अरबों खरबों के घोटाले करके सांफ बच जाते हैं जिससे युवा वर्ग इस बात के लिए प्रेरित होता है कि यदि व्यक्ति के पास पर्याप्त धन बल है तो उसका कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता है बस यही धारणा उसे अकूत धन प्राप्त करने के लिए भ्रष्टाचार की अंधी गली में धकेल देती है जहां से वह फिर कभी वापस नहीं आ पाता है।

जन -जागरण का अभाव: हमारे देश की बहुसंख्यक जनता अपने अधिकारों से अनजान हैं जिसका लाभ उठाकर प्रभावशाली लोग उनका शोषण कर रहे हैं और जनता चुपचाप भ्रष्टाचार के चक्की में पिस रही है।

जीवन मूल्यों का ह्रास और चारित्रिक पतन:आज व्यक्ति के जीवन से मानवीय मूल्यों का इतना खास हो रहा है कि उसे उचित अनुचित में कोई फर्क नहीं दिखाई दे रहा है जीवन मूल्यों के किसी हास ने व्यक्ति का इतना चारित्रिक पतन कर दिया है कि उससे अन्य लोगों के हितों की आशा करना मुश्किल भी बेकार है। यह एक प्रकार से भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिल रहा है।

भ्रष्टाचार को दूर करने के उपाय

  1. जनांदोलनभ्रष्टाचार को रोकने का सबसे मुख्य और महत्वपूर्ण उपाय जन आंदोलन है जनांदोलन के द्वारा ही लोगों को उनके अधिकारों का ज्ञान कराया जा सकता है
  2. कठोर कानून- कठोर कानून बनाकर ही भ्रष्टाचार पर रोक लगाई जा सकती है यदि व्यक्ति को पता हो कि भ्रष्टाचार करने वाला कोई भी व्यक्ति हैं वह सजा से नहीं बच सकता है तो भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा।
  3. नि: शुल्क उच्च शिक्षा– भ्रष्टाचार पर पूरी तरह अंकुश तभी लगेगा जब देश के प्रत्येक युवा को निशुल्क शिक्षा का अधिकार प्राप्त होगा।
  4. पारदर्शिता– देश और समाज में कार्य करने में पारदर्शिता रहेगी तभी भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा।
  5. नैतिक मूल्यों की स्थापना– नैतिक मूल्यों की स्थापना करके भी भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जा सकता है

उपसंहार (Conclusion)

आज हमने आपको भ्रष्टाचार पर निबंध ( Essay on Corruption in Hindi) लिखकर आपको निबंध के बारे में सभी प्रकार की जानकारियां प्रदान कर दी और भी आपको कुछ जानने की इच्छा है तो Comment में जरूर बताइएगा और साथ में ये भी बताइएगा कि आपको पोस्ट कैसी लगी और शेयर करना जरूर करें। भ्रष्टाचार पर निबंध ( Essay on Corruption in Hindi)

कोई सवाल या जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें